उपवास


सत्याग्रह के शस्त्रागार में

महान

शक्तिशाली अस्त्र है

शारीरिक उपवास के साथ साथ

मन का उपवास हो तो

वह दम्भपूर्ण और हानिकारक है


-
महात्मा गांधी





















www.albelakhatri.com

1 comments:

  1. Udan Tashtari on February 23, 2010 at 5:31 PM

    गाँधी जी के सदविचारों को प्रस्तुत करने का आभार...

     

Followers

Blog Archive